Timeline Updates

Loading...
Change Language

Upcomming

Recent News


Recent Video

Story of Day

बहुत अनुनय विनय पर भगवान पिघले और कठिनाई से ही तनिक दर्शन झाँकी देकर अन्तर्ध्यान हो गये। जाते समय कहते गये-मैं पीड़ितों और पतितों में बसता हैं। वहाँ जा सेवा कर-और हाथों हाथ आत्मसन्तोष का प्रसाद ले।”

...


Akhandjyoti Feb(1973)